Pages

देवनागरी में लिखें

Sunday, 10 November 2013

मुक्तक

मुक्तक की परिभाषा अभी समझ रही हूँ 

दो मुक्तक 

1

"कलम यहाँ तक ले आया 
नाज़ कलम पे हो आया 
दोस्त बेहतरीन मिले 
इश्क कलम से हो आया। "



2
" अन्धविश्वास बना सका शक्की 
 खुद पर करो यक़ीन , जीत पक्की
तदबीर बदल देता है तक़दीर
किस्मत भी सुधार सकती चक्की। "

~~
क्या सही है ??

13 comments:

  1. " अन्धविश्वास बना सका शक्की खुद पर करो यक़ीन , जीत पक्की तदबीर बदल देता है तक़दीर किस्मत भी सुधार सकती चक्की।" वाह क्या ख़ूब लिखा है आपने , सुन्दर बढ़िया मुक्तक , आदरणीय एक विनय कभी हमारे ब्लॉग पर पधारने की कृपा करें
    आपके पाठन हेतु सूत्र --: प्रतिभागी - गीतकार के.के.वर्मा " आज़ाद " ---> A tribute to Damini

    ReplyDelete

  2. वाह क्या बात है..

    ReplyDelete
  3. Replies
    1. छंद के विज्ञजन से निवेदन है कि मुक्तक और रुबाइयाँ की परिभाषा बताएं |

      Delete
  4. भावो को खुबसूरत शब्द दिए है अपने.....

    ReplyDelete
  5. बिलकुल सही. दोनों बहुत अच्छे हैं.

    ReplyDelete
  6. क्या बात है....बहुत सुन्दर

    ReplyDelete
  7. बहुत सुन्दर...

    ReplyDelete
  8. वाह !!! बहुत सुंदर और प्रभावशाली मुक्तक
    सादर

    आग्रह है--
    आशाओं की डिभरी ----------

    ReplyDelete

आपको कैसा लगा ... ये तो आप ही बताएगें .... !!
आपकी आलोचना की जरुरत है.... ! निसंकोच लिखिए.... !!