Pages

देवनागरी में लिखें

Thursday, 8 August 2013

आज ईद है






आज ईद है ....
सावनी तीज है …

पेडो पे झुले
सोणी याद मैके की
तीज ले आया

गोरी विहसे
हरी-हरी चुड़ियाँ
कलाई साजे

हरी-हरी चुड़ियाँ ही
डाल लेती हूँ ....
अपनी कलाई
सजा लेती हूँ ....

 देना चाहती हूँ
सबों को बधाई - ईदी
बचपन से शौक रहा है
 ईदी के लिए मचलने का
पापा के दोस्तों में
चाची जान से उलझने का  
छोटे मांग बैठे
 तो
हर्ष से देने का


आज पड़ोस से आते
शहीद के अबोध बच्चों का रोना ....
पत्नी का चीत्कार ....
मांग 5 शहीद के बदले 5000 शत्रु के लाश का ...
माँ-बाप के सहारे की
लाठी छिनने का
(कोई उचित शब्द नहीं मिल रहा)

याद आ रही है ,
शहीद के पत्नी की
सुनी मांग
और
सूनी कलाई
कल ही तो
पोछी-तोड़ी गई है ….




आज ईद है
दिल से बधाई औ
ईदी लो औ दो .... 



11 comments:

  1. शहीदों को श्रद्धावत नमन।
    ईद एवं हरियाली तीज की शुभकामनायें।

    ReplyDelete
  2. शहीदों के वलिदान पर पूरा देश रो रहा हैं |

    ReplyDelete
  3. शहीदों को नमन....

    ReplyDelete
  4. ईद मुबारक आंटी


    सादर

    ReplyDelete
  5. शहिदिं को विनम्र नमन..ईद और तीज की बधाई..

    ReplyDelete
  6. शहीदों को श्रद्धावत नमन।

    ReplyDelete
  7. शहीदों को श्रद्धावत नमन.........

    ReplyDelete
  8. नमन है देश के शहीदों को ...

    ReplyDelete

आपको कैसा लगा ... ये तो आप ही बताएगें .... !!
आपकी आलोचना की जरुरत है.... ! निसंकोच लिखिए.... !!