Pages

देवनागरी में लिखें

Tuesday, 8 October 2013

Aspirin





कब क्या हो जाये कहना मुश्किल ......


एस्प्रिन एक ऐसी दवा जो सिर दर्द में भी ली जाती है और अगर  symptoms evaluation, cardiologists recommend TMT  में report possitive आए तो डॉ मरीज को Aspirin लेने के लिए मशवरा देते हैं .....

2002 में मेरे भैया , अपना bp high होने पर , TMT करवाये तो उनका report possitive आया .....
तो जिस डॉ को दिखला रहे थे वे उन्हे एस्प्रिन लेने का सलाह दिये और डॉ के सलाह के अनुसार भैया एस्प्रिन लेने लगे .....

समय समय पर भैया का स्थांतरण होता रहा ..... डॉ बदलते रहे .... लेकिन किसी ने यह नहीं बताया कि एस्प्रिन हानिकारक हो सकता है .....
एस्प्रिन का काम है खून को पतला रखना ....
लेकिन भैया के केस में एस्प्रिन खून को इतना पतला कर दिया कि उनके शरीर से मलद्वार से बहने लगा और उन्हे मौत के कगार पर पहुंचा दिया .....

ब्लॉग पर बताने का ध्येय यह है कि अगर और कोई एस्प्रिन ले रहा हो तो वो सचेत हो जाये .....



28 comments:

  1. आपकी यह उत्कृष्ट उचित सलाह कल गुरुवार (10-10-2013) को "ब्लॉग प्रसारण : अंक 142"शक्ति हो तुम
    पर लिंक की गयी है,कृपया पधारे.वहाँ आपका स्वागत है.

    ReplyDelete
    Replies
    1. बहुत बहुत धन्यवाद और आभार
      नवरात्रि‍ की हार्दिक शुभकामनाएं

      Delete
  2. बहुत ही खतरनाक होता है,पर डॉ की सलाह के आगे मरीज़ क्या करे !!!

    ReplyDelete
  3. बहत ही आवश्यक जानकारी शेयर किया आपने |
    ...........................................................

    ReplyDelete
  4. bahut mehtvapurn jankari didi......

    ReplyDelete
  5. davai to sabhi khatrnak hai waqt par doctor ki salah ke anusar hi start kare aur band bhi.

    ReplyDelete
  6. बहुत अच्छी जानकारी .आभार .
    नवरात्रि की शुभकामनाएँ.

    ReplyDelete
  7. ओह!!! मु७झे आजकल डोक्टर एकोस्प्रिन दे रहे हैं रोजाना रत को लेने के लिय .इस बार उनसे बात करूंगी .शुक्रिया इन्फोर्मशन के लिय

    ReplyDelete
  8. महतवपूर्ण जानकारी के लिए आभार

    ReplyDelete
  9. इस बारे में बहुतों को जानकारी नहीं रहती है

    ReplyDelete
  10. सही कहा..महतवपूर्ण जानकारी के लिए आभार

    ReplyDelete
  11. उचित जानकारी ..... डॉक्टर सलाह दें तो दवाई लेनी भी पड़ती है ।

    ReplyDelete
  12. बढ़िया जानकारी दी आपने |

    मेरी नई रचना :- मेरी चाहत

    ReplyDelete
  13. इमरजेंसी में लेने के लिए कहा जाता है , अधिक उपयोग नुकसानदायक होगा ही।
    ह्रदय रोग में अशोक की छाल बेहतर असर करती है , असर देखा है !

    ReplyDelete
  14. यहाँ तो लोग नशे के असर को दूर करने के लिए इसे आसानी से गटकते रहते हैं.

    ReplyDelete
  15. अच्छी जानकारी आभार

    ReplyDelete
  16. बहुत अच्छी जानकारी दी आपने !!आभार

    ReplyDelete
  17. आपने सचेत किया है सबको ये जानकारी देकर ....

    ReplyDelete
  18. कल 11/10/2013 को आपकी पोस्ट का लिंक होगा http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर
    धन्यवाद!

    ReplyDelete
    Replies
    1. बहुत बहुत धन्यवाद और आभार
      नवरात्रि‍ की हार्दिक शुभकामनाएं

      Delete
  19. सार्वजनिक हित में ब्लाग द्वारा बताने हेतु धन्यवाद।

    ReplyDelete
  20. स्वास्थ के प्रति सचेत करने के लिए
    सार्थक जानकारी का
    आभार

    ReplyDelete
  21. दवाइयों के कई side इफ़ेक्ट होते हैं...डॉक्टरी सलाह लेते रहना चाहिए..
    चेताने के लिए आभार दी.

    सादर
    अनु

    ReplyDelete
  22. उपयोगी जानकारी

    ReplyDelete
  23. अच्‍छी जानकारी शेयर की...ध्‍यान रखने योग्‍य बात

    ReplyDelete

आपको कैसा लगा ... ये तो आप ही बताएगें .... !!
आपकी आलोचना की जरुरत है.... ! निसंकोच लिखिए.... !!