Pages

देवनागरी में लिखें

Sunday, 6 October 2013

उपर वाला संतुलित जीवन देता है


02 - 10 - 2013 to 08 - 10 - 2013

अभी देने का सप्ताह चल रहा है 
सच्चा दान वही 
जो किसी को 
आत्म-विश्वास से परिपूर्ण कर दे

पिछला पोस्ट क्रमश: लिखी तो दिमाग में यह था कि 
बरौनी पहुँच कर शिमला से सम्बंधित ही पोस्ट बनाना है …. 

बताना था आप सबों को 







सुनी देवदार से सरगोशी करते चीर को 
देखी सर्प सी बलखाती सड़क को 
मिली गलबहियाँ डाले मेघ और गिरि को 
इसमें क्या खास बात है ? ऐसा हर पहाड़ी पर होता है 
अरे नहीं 
हर पहाड़ी की कुछ तो अलग विशेषताएं तो होती ही है 


लेकिन ज्यूँ ही
 दिल्ली (01-010-2013) हवाई अड्डा पहुंची 
खबर मिला कि भैया T M H में भर्ती हैं 
दिल्ली से 3 बजे पटना 
पटना से बरौनी 7:30 बजे 

बरौनी से 9:30 बजे से चल कर 
सुबह 9:30 T M H (02-10-2013)


अपने हिस्से का दर्द 
किसी से भी नहीं 
बांटा जा सकता

T M H
Tamaachaa Maar Hos pitalas

TMH को तमाचा मार होस पिटलस 
इस लिए बोली कि वहाँ ये व्यवस्था है कि 
अगर आपके पास समय नहीं है  कि 
आप अपने बीमार सदस्य की देख भाल कर सके तो 
200Rs प्रतिदिन देने पर किराए पर आदमी मिल सकता है ...

अपनों बीच 
बुढ़ापा दुखी ,प्यासा 
जल में सीप 

सीप केवल जैविक रत्न मोती ही नहीं बनाता , 
बल्कि एक दिन में लगभग 15 गैलन पानी भी शुद्ध कर देता है …… 
अकेले रह जाने वाले बीमार आदमी की 
कातर निगाहें झेल पाना ज्यादा आसान है ना ?

है न तमाचा ?
समाज पर लागे 
फर्क क्या पड़े 

वहीं एक रोज ,एक वृद्ध की मृत्यु के समय पूरे परिवार का 
विलख-विलख कर रोना पूरे अस्पताल को रुला दिया .... 
पूरा परिवार सेवा में लगा हुआ था ....

जीने के लिए 
जरूरी कुछ नहीं 
जीना जरूरी 

वहाँ से कल लौटी तो पता चला कि 
मेरे पति की गाड़ी दुर्घटना हुई है 
उनके सर में आगे के सीट से चोट है थोडा 
बाकी सब सही सलामत हैं 

शक्ति आसक्ति 
नास्तिक है आसक्ति 
आसक्त शक्ति 

उपर वाला संतुलित जीवन देता है

खिलखिलाते हुये आंखो में अश्क होता है
इसलिए किसी से भी नहीं रश्क होता है

~~~~ 





28 comments:

  1. photo to sabhi sundar lage
    lekin dukhad ghatnaaon ko padhkar dukh bhi huaa

    ab achchha samay aa gaya ho ....aesa hi ho
    ek ke bad ek misibaton ka silsila tham jaaye .yahi duaa hain

    ReplyDelete
  2. चिंता नहीं करें आंटी।
    अंकल जी और आप सभी सपरिवार स्वस्थ रहें। हमारी यही कामना है।


    सादर

    ReplyDelete
  3. बहुत सुन्दर प्रस्तुति.. आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि आपकी पोस्ट हिंदी ब्लॉग समूह में सामिल की गयी और आप की इस प्रविष्टि की चर्चा कल - सोमवार - 07/10/2013 को
    अब देश में न आना तुम गाधी
    - हिंदी ब्लॉग समूह चर्चा-अंकः31
    पर लिंक की गयी है , ताकि अधिक से अधिक लोग आपकी रचना पढ़ सकें . कृपया पधारें, सादर .... Darshan jangra


    ReplyDelete
    Replies
    1. बहुत बहुत धन्यवाद और आभार
      नवरात्रि‍ की हार्दिक शुभकामनाएं

      Delete
  4. pics kafi sundar hai didi.........likha apne bilkul sach hai.......accident kay bare mey padh kar dukh hua....but bhagwan ki kripa ki chot kam lagi........sab accha hi hoga age

    ReplyDelete
  5. आपकी इस प्रस्तुति की चर्चा कल सोमवार [07.10.2013]
    चर्चामंच 1391 पर
    कृपया पधार कर अनुग्रहित करें |
    नवरात्र की हार्दिक शुभकामनाओं सहित
    सादर
    सरिता भाटिया

    ReplyDelete
    Replies
    1. बहुत बहुत धन्यवाद और आभार
      नवरात्रि‍ की हार्दिक शुभकामनाएं

      Delete
  6. oh ye to dukhad raha di :( bhaiyi saab ka to abhi pata chala .. .. abhi kabhi yu hi hota .. ek sath hi sari ghatnaye ghatne lagti hai par ye soch bal deti hai ki chalo achha hai ek baar me dukh kat gaye .. ab samne sukh ke din hai .. :)

    ReplyDelete
  7. सपरिवार स्वस्थ रहें। हमारी यही कामना है।

    ReplyDelete
  8. सबके लिए शुभकामनाएँ

    ReplyDelete
  9. http://janhitme-vijai-mathur.blogspot.in/2011/10/blog-post.html
    इस लिंक पर एक 'सप्त चिर जीवी स्तुति' है। यदि विश्वास करें तो उसका प्रयोग शीघ्र स्वस्थ्य लाभ हेतु दोनों लोगों के हेतु कर लें।
    हम दोनों जनों के शीघ्र उत्तम स्वस्थ्य प्राप्ति की कामना करते हैं।

    ReplyDelete
    Replies
    1. बहुत बहुत धन्यवाद और आभार
      नवरात्रि‍ की हार्दिक शुभकामनाएं

      Delete
  10. जीवन में तकलीफ,ख़ुशी का पलड़ा थोड़ा अलग होता है - दुःख ज्यादा, ख़ुशी कम ! आलोचना ज्यादा,तारीफ कम …. आदमी होता ही अजीब है,सबकुछ सहकर देने का सुख लिए मुस्कुराता है,बिना सहे शोर मचाता है . आप सब सकुशल रहें - कामना है

    ReplyDelete
  11. आप हमेशा बहुत खुश ,स्वस्थ्य रहे ईश्वर से हमारी यही मंगल कामना हैं |

    ReplyDelete
  12. सुंदर चित्रावली एवं विचार

    ReplyDelete
  13. उपर वाला संतुलित जीवन देता है
    सुंदर छत्रों के साथ ....सुंदर ज्ञान भी ....शुभकामनायें ...!!

    ReplyDelete
  14. पतिजी शीघ्र ही स्वास्थ्य लाभ करें, जीवन का संतुलन बना रहे।

    ReplyDelete
  15. कभी ख़ुशी कभी गम यही तो जीवन है ...!
    नवरात्रि की बहुत बहुत शुभकामनायें-

    RECENT POST : पाँच दोहे,

    ReplyDelete
  16. .....बस इतना कि भगवती सारी विघ्न-बाधायें शीघ्र दूर कर दें.

    ReplyDelete
  17. सुन्दर चित्रों के साथ पीड़ा ....!!! ईश्वर परेशानियाँ शीघ्र दूर करें

    ReplyDelete
  18. परमात्मा की कृपा बनी रहे - शुभकामनाएं

    ReplyDelete
  19. बेह्तरीन अभिव्यक्ति!!शुभकामनायें.

    ReplyDelete
  20. चित्र भी मुखरित हुए..

    ReplyDelete
  21. परमात्मा किस रूप में संतुलन करता है यह तो वही जानता है ,इन्सान को तो दुःख का पलड़ा भरी लगता है |
    latest post: कुछ एह्सासें !
    नई पोस्ट साधू या शैतान

    ReplyDelete
  22. अपने हिस्से का दर्द
    किसी से भी नहीं
    बांटा जा सकता
    ..सच सबको अपना-अपना दुःख-सुख यही अकेले भोगना पड़ता है ..इश्वर करे शीघ्र सब ठीक हो ...

    ReplyDelete
  23. स्वास्थ रहें .... दर्द को दोस्तों से जरूर बाँटें ...

    ReplyDelete
  24. मार्मिक भी सुन्दर भी तस्वीरे अच्छी हैं सभी |

    ReplyDelete

आपको कैसा लगा ... ये तो आप ही बताएगें .... !!
आपकी आलोचना की जरुरत है.... ! निसंकोच लिखिए.... !!