Tuesday, 1 January 2013

हम ना भूलें = * हाइकु *





आप सब का नया साल सुख और शांति के साथ बीते .
आप और आपके परिजन इस साल सुरक्षित रहें ............ !!


http://hindihaiga.blogspot.in/2013/01/blog-post.html  

रचनाएँ hindihaiga@gmail.com पर भेजें - ऋता शेखर मधु
* हाइकु *  *हाइगा*



उम्मीद थामे
एक छोर फिसला
दोषी क्या भाग्य ? 

~~~~~~~~~~~~~


हम ना भूलें
नैन इंतजार में
वादा किया है
~~~~~~~~~~~~~


रौशनी करो
नहीं हक़ ख़ुशी का
ना फैला सको
~~~~~~~~~~~~~



पलते रहे
नयनों के सपने
अभावों में जो
~~~~~~~~~~~~~



हैं चटकते
फलने से पहले
झुलस जाते
~~~~~~~~~~~~~

ख्याल कर लें
खुशियों से भर दें
हर्षित करें !!


~~~~~~~~~~~~~
~~~~~~~~~~~~~

उम्मीद थामे
एक छोर फिसला
दोषी क्या भाग्य  ?
कहने वाले कहें
हम ना भूलें
नैन इंतजार में
वादा किया है
रौशनी फैलाने का
ना फैला सको
नहीं हक़ ख़ुशी का
पलते रहे
नयनों के सपने
अभावों में जो
जीवन मोड़ पर

हैं चटकते
फलने से पहले
 झुलस जाते
आओ ख्याल कर लें
खुशियों से भर दें !!


~~~~~~~~~~~~~
~~~~~~~~~~~~~




20 comments:

  1. बेह्तरीन अभिव्यक्ति

    नब बर्ष (2013) की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    मंगलमय हो आपको नब बर्ष का त्यौहार
    जीवन में आती रहे पल पल नयी बहार
    ईश्वर से हम कर रहे हर पल यही पुकार
    इश्वर की कृपा रहे भरा रहे घर द्वार.

    ReplyDelete
  2. दीदी
    भूलने वाली बात नहीं न है

    ReplyDelete
  3. नव वर्ष की शुभ कामनाएं :
    नयी पोस्ट : "नया वर्ष मुबारक हो सबको "

    ReplyDelete
  4. सही बात कही आंटी

    नव वर्ष की हार्दिक शुभ कामनाएँ!


    सादर

    ReplyDelete
  5. बहुत उम्दा.बेहतरीन श्रृजन,,,,
    नए साल 2013 की हार्दिक शुभकामनाएँ|
    ==========================
    recent post - किस्मत हिन्दुस्तान की,

    ReplyDelete
  6. आपकी यह बेहतरीन रचना शनिवार 05/01/2013 को http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर लिंक की जाएगी. कृपया अवलोकन करे एवं आपके सुझावों को अंकित करें, लिंक में आपका स्वागत है . धन्यवाद!

    ReplyDelete
  7. अगर अब भी भूल जायेंगे ..तो
    बस रोतें ही मर जायेंगे ...???

    शुभकामनायें इस साहस को !

    ReplyDelete
  8. रचना लाजवाब!
    Wish U very happy new year

    ReplyDelete
  9. दोषी भाग्य था या दरिन्दे ....

    पर जो हुआ दर्दनाक था .....असहनीय था ....!!

    ReplyDelete
  10. बहुत सुन्दर ....

    ReplyDelete
  11. बहुत खूब ...
    आपको २०१३ मंगलमय हो ...

    ReplyDelete
  12. सही बात कही आपने
    नव वर्ष की हार्दिक शुभ कामनाएँ!

    ReplyDelete
  13. बहुत सुन्दर..आशा है कि नव वर्ष और मंगलमय होगा..

    ReplyDelete
  14. सुंदर सृजन...नव वर्ष मंगलमय हो !!

    ReplyDelete
  15. बहुत सुन्दर भाव किये रचना ....आपका नव वर्ष मंगलमय हो

    ReplyDelete
  16. बहुत बढ़िया रचना विभा जी...
    नववर्ष मंगलमय हो...

    सादर
    अनु

    ReplyDelete

आपको कैसा लगा ... यह तो आप ही बताएगें .... !!
आपके आलोचना की बेहद जरुरत है.... ! निसंकोच लिखिए.... !!

चालाकी कि धूर्तता

लघुकथा लेखक द्वारा आयोजित 'हेलो फेसबुक लघुकथा' सम्मेलन का महत्त्वपूर्ण विषय 'काल दोष : कब तक?' था। आमंत्रित मुख्य अतिथि महोद...