Saturday, 19 December 2020

जुगनू ज्योत

जुगनू की लौ/देवदीवाली–
बंसवारी मकड़ी
मेले में आयी।

"थैंक यू! थैंक यू ,सो मच सर!" होल्ली ने अपने बॉस रेड्डी को कहा।
"इट'स ओके! गॉड ब्लेस्स यू! एन्जॉय।" बॉस रेड्डी ने अपने टीम मेम्बर होल्ली से पूछा।
     होल्ली व रेड्डी जिस कम्पनी में काम कर रहे थे, उस कम्पनी से कहा गया कि सभी अपनी-अपनी दो-तीन इच्छाएँ गुप्तरूप से सूचित करेंगे। आप सभी को एक दूसरे के लिए सांता क्लॉज बनाया जाएगा। आप जिनके लिए सांता बने हैं उन्हें सूचित नहीं करेंगे लेकिन उन्हें उपहार भेज देंगे। उपहार मिलने पर पैकेट खोल कर नहीं देखेंगे। निर्धारित तिथि को सभी एक साथ वर्चुअल गोष्ठी में उपस्थित होंगे और अनुमान लगायेंगे कि आपका सांता क्लॉज कौन हैं।
और आपको एक सूची दी जाएगी जिसमें आप सभी को अपनी-अपनी पसन्द की पाँच वस्तुओं को बतानी है जिसे रेफ़ल ड्रा से निष्कर्ष निकाला जाएगा।
 होल्ली ने हैरी पॉटर के लिए अपनी इच्छा जतायी और निर्धारित तिथि पर पैकेट खोलने पर उसे हैरी पॉटर की 5 डीवीडी मिला। वह खुशी से उछल पड़ी,-"मेरे बॉस! सर आप ! सर आप।"
उससे पूछा गया कि आपने कैसे अनुमान लगाया?
"सर मुझसे फोन पर बात किये थे।"
"मैं तो सिर्फ पूछा था कि तुमने हैरी पॉटर को क्यों चुना? इसने नन्हें शिशु सा खुश होते हुए बताया कि अगर इसके सांता के द्वारा हैरी पॉटर की स्टिक-जादुई छड़ी भी दी जाती है तो इसे बेहद खुशी होगी।"
"तुम इस डीवीडी को कैसे देख पाओगी?" होल्ली की सहेली ने पूछा।
"क्यों?" रेड्डी ने पूछा।
"इसके पास मोबाइल के सिवा कोई अन्य उपकरण नहीं है। कम्पनी से मिला लैपटॉप है जिसमें डीवीडी लगाने की सुविधा नहीं है।" होल्ली की सहेली ने कहा।
"अरे! इस ज़माने में कोई टीवी नहीं रखता हो , वो भी खास कर युवा?" रेड्डी आश्चर्यचकित थे।
"आप चिन्ता नहीं करें सर! रेफ़ल ड्रा से मुझे डीवीडी प्लेयर मिल जाएगा। बच्चा बने युवा को फिर से युवा हो जाने का एहसास कराने के लिए हार्दिक आभार आपका।"


DVD-डिजिटल वीडियो डिस्क
Raffle Draw=भाग्य आज़माने वाली क्रीड़ा


 

4 comments:


  1. जय मां हाटेशवरी.......

    आप को बताते हुए हर्ष हो रहा है......
    आप की इस रचना का लिंक भी......
    20/12/2020 रविवार को......
    पांच लिंकों का आनंद ब्लौग पर.....
    शामिल किया गया है.....
    आप भी इस हलचल में. .....
    सादर आमंत्रित है......


    अधिक जानकारी के लिये ब्लौग का लिंक:
    https://www.halchalwith5links.blogspot.com
    धन्यवाद

    ReplyDelete
    Replies
    1. सस्नेहाशीष व असीम शुभकामनाओं के संग हार्दिक आभार आपका पुत्र

      Delete

आपको कैसा लगा ... यह तो आप ही बताएगें .... !!
आपके आलोचना की बेहद जरुरत है.... ! निसंकोच लिखिए.... !!

तड़प

  आज मॉनसून की पहली बौछार से याद आया मैं जिस शहर में हूँ उसने बरगद को जड़ सहित उखाड़ फेका है। पक्षियों को बसेरा देते-देते नौ दल, चचान जुंडी, त...